कंपनी का जॉब ऑफर नकली है या असली? ऐसे पहचाने

यहां कुछ ऐसे तरीके बताये गए हैं जो लोगों को जानने में मदद करेंगे की नौकरी का ऑफर नकली या असली है | फर्जी नौकरी के ऑफर का पता ऐसे लगाएं



आपको एक प्रतिष्ठित कंपनी में साक्षात्कार के लिए एक जॉब कंसलटेंट से एक कॉल प्राप्त होती है। कॉल करने वाला आपको कंपनी में अपने मूल दस्तावेज जमा करने के लिए कहता है। आप कंपनी कार्यालय में जाते हैं जहां जॉब कंसलटेंट आपको व्यक्तिगत रूप से कंपनी प्रतिनिधि से मिलवाता हैं और आपका इंटरव्यू लिया जाता है. जॉब कंसलटेंट आपसे भारी शुल्क लेता है और आपको नौकरी का ऑफर लेटर देता है। जब आप जॉइनिंग डेट पर कंपनी कार्यालय पहुंचते हैं, तो आपको सूचित किया जाता है कि जॉब ऑफर 'फर्जी' है।

कुछ ऐसा ही आजकल हो रहा है नौकरी देने के नाम पे. 'नकली फोन, नकली साबुन, नकली टी-शर्ट और नकली नौकरियां' भारत में भी काफी प्रचलित हैं.

नकली जॉब ऑफर कैसे पता करे





अक्सर देखा जाता है कि बहुत सारे कैंडिडेट्स जो नौकरी कि तलाश में रहते हैं, वो लोग जल्दबाजी में बिना पड़ताल किये कंपनी के जॉब ऑफर को स्वीकार कर लेते हैं और फिर जब काफी पैसा उनका खर्च हो जाता है तो फिर पछताते हैं. ऐसे में आपको पहले से ही सतर्क रहने कि जरुरत है.

जालसाजी करने वाले लोग इन दिनों बहुत चालाक हो गए हैं, और आजकल इस तरह जॉब ऑफर, विज्ञापन जारी करते हैं और ढोंग करते है की ये बिल्‍कुल किसी बड़े कंपनी की जॉब लगती है जबकि हकीकत में ऐसा नहीं होता। इन फर्जी ऑफर का मकसद कैंडिडेट से मोटा पैसा ठगना होता है सिर्फ.

रक्षा बलों और रेलवे से लेकर टाटा, विप्रो, इंफोसिस, टेक महिंद्रा जैसी शीर्ष कंपनियों में आपको नौकरियां दिलाने का वादा ये गिरोह करते है. चूंकि इंटरनेट देश में फैला हुआ है, जालसाजों के लिए यह एक उपयोगी टूल बन जाता है क्योंकि वे नकली वेबसाइटों और ईमेल के माध्यम से लोगों के सामने खुद को गलत तरीके से प्रस्तुत करते है।

नकली वेबसाइटें: एक और चाल कंपनियों की फर्जी वेबसाइटें बना कर चला जाता है, ऐसे गिरोह इन फर्जी कंपनियों के नाम पर सोशल मीडिया खाते भी बनाते हैं। कुछ नकली नौकरी पोर्टल भी बनाते हैं। अभ्यर्थियों को इन पोर्टलों पर पंजीकरण करना होता है जिससे जालसाजो को अपनी व्यक्तिगत जानकारी दे बैठते हैं। वे न केवल इन वेबसाइटों पर नकली नौकरियां पोस्ट करते हैं बल्कि परीक्षा भी लिया करते हैं और परिणाम अपलोड करते हैं.

नौकरी के फर्जी ऑफर का पता कैसे लगाएं :






1. नौकरी विवरण का स्पष्ट ना होना - नौकरी से सम्बंधित जालसाजी करने वाले नौकरी का ऑफ़र पूरी योजना के साथ तैयार करते है, इसीलिए दिए गए नौकरी के ऑफ़र लेटर पूर्ण रूप से कानूनी प्रक्रिया के अंतर्गत सही लगते है. ऐसी ऑफ़र वाली नौकरियों में आपकी निपुणता से सम्बंधित किसी प्रकार का प्रश्न नहीं होता है, ऐसी स्थिति में आप को सतर्क हो जाना चाहियें.

2. बिना आवेदन के नौकरी देना - एक कंपनी अपने लिए कर्मचारियों का चयन ,चयन प्रक्रिया के अनुसार करती है, जबकि अवैध कंपनियाँ या जालसाज नौकरी के लिए आपकी खोज करतें है और बिना आवेदन किये आपको नौकरी देने का आश्वाशन दे देतें है मतलब आप नौकरी को नहीं, नौकरी आप की खोज लेती है. इस प्रकार की स्थिति होने पर आप तुरंत सावधान हो जाएँ.

फर्जी नौकरी के ऑफर ऐसे पहचाने

3. पैसा जमा करने के लिए कहा जाता है - नौकरी का लोभ देने के बाद जालसाज किसी ना किसी बहाने आपको भुगतान करने के लिए कहते है , आपसे महत्वपूर्ण सॉफ्टवेयर बताकर जिसका प्रयोग आप को करना है या सिक्यूरिटी डिपाजिट के नाम पे पैसे मांगते है. यदि यह ऑफ़र में विदेशी कंपनी होता है तो, बीजा हेतु धनराशि जमा करने का प्रस्ताव रखेंगे. जबकि वैध कंपनियां ऐसा कुछ नहीं करती और उपयोग में आने वाले किसी प्रकार के सॉफ्टवेयर का खर्च स्वयं वहां करती है.


उम्मीदवार नकली नौकरी रैकेट से खुद को कैसे बचा सकते हैं? 




कंपनियां भर्ती करते समय कुछ बुनियादी नियमों का पालन करती हैं। विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि किसी को अपने जॉब ऑफर के प्रामाणिकता की जांच के लिए विभिन्न सार्वजनिक चैनलों से कंपनी/संगठन पर पूरी तरह से शोध करना चाहिए।

1. कभी पैसे ना दें :

किसी भी परिस्थिति में, उम्मीदवारों को उनकी उम्मीदवारी के लिए किसी भी रूप में भुगतान करने के लिए नहीं कहा जाता है। अगर ऐसा होता है, तो यह जालसाजी हो सकती है और उन्हें स्वीकार नहीं करना चाहिए।

2. बैकग्राउंड रिसर्च करें :

नौकरी के लिए या किसी साक्षात्कार में जाने से पहले या किसी भी कंपनी को आवेदन करने से पहले, कंपनी की वेबसाइट पर जाना चाहिए और संबंधित वैकेंसी की जानकारी लेनी चाहिए। प्रत्येक अच्छी कंपनी की वेबसाइट पर सभी संपर्क जानकारी और वेबसाइट पर पोस्ट किए गए सभी करियर विकल्पों के साथ इसकी वेबसाइट होती है। ऐसे कंपनी से जुड़ने से पहले, इस तरह के संगठन में काम कर रहे लोगों से भर्ती प्रक्रिया के बारे में राय लेना चाहिए।

3. Google का प्रयोग करें:

Google जानकारी का बहुत बढ़िया स्रोत होता है। जानकारी के लिए Google पर कंपनी के नाम से सर्च करें और यदि आपको कोई संबंधित जानकारी नहीं मिलती है, तो आवेदन करने से परहेज़ करें। आप, रिपोर्ट किए गए फर्जी जॉब के बारे में जानकारी खोजने के लिए भी इसका उपयोग कर सकते है जिसके लिए 'कंपनी का नाम जॉब स्कैम' टाइप करना होगा।

संबंधित जानकारियाँ-


सरकारी नौकरी के फर्जी विज्ञापन को ऐसे पहचाने | नकली सरकारी भर्ती से रहें दूर

नौकरी कैसे खोजें आसानी से इंटरनेट पे ? How to Find Job Easily Using Job Portals

ATM से पैसे नहीं निकले लेकिन अकाउंट से पैसे कट जाये तो क्या करें? If an ATM doesn't give you money.

ऑनलाइन खरीदारी के नुकसान और फायदे

अगर आपके पास कोई प्रश्न है, तो निचे Comment करें। यदि आप इस Article को उपयोगी पाते हैं, तो इसे अपने दोस्तों के साथ Share करें।


कंपनी का जॉब ऑफर नकली है या असली? ऐसे पहचाने कंपनी का जॉब ऑफर नकली है या असली? ऐसे पहचाने Reviewed by AwarenessBOX on 12:55 Rating: 5

4 comments

  1. Company sahihai ki nahi kaise pata kare?

    ReplyDelete
    Replies
    1. www.mca.gov.in पे आप कंपनियों के मास्टर डेटा की जांच कर सकते हैं
      गूगल पे चेक करें कि कंपनी का शिकायतों का इतिहास रहा है या नहीं।
      कंपनी के कर्मचारियों, डायरेक्टर की जानकारी प्राप्त करने के लिए के लिए लिंक्डइन का उपयोग करें।
      अगर आपको कुछ भी नहीं मिलता है, या मिली हुई जानकारी भ्रामक हो तो कंपनी फेक हो सकता है.

      Delete
  2. सर मुझे एक कंपनी का कंफर्म लेटर आया है वह असली है या नकली कैसे पता करें

    ReplyDelete
    Replies
    1. यहाँ पर बताएं गए तरीकों से पता कर सकते है,
      आप boxawareness@gmail.com पे लेटर मेल कर सकते है.

      Delete

Share